क्लाइमेट चेंज एक चुनौती है: प्लेनेट को इससे बचाने के लिए चुनौतियों से लड़ना होगा, रिस्पांसिबल टूरिज्म में राजस्थान अग्रणी प्रदेश बनने के लिए कार्य कर रहा है

प्लेनेट को इससे बचाने के लिए चुनौतियों से लड़ना होगा, रिस्पांसिबल टूरिज्म में राजस्थान अग्रणी प्रदेश बनने के लिए कार्य कर रहा है
Deputy Chief Minister Diya Kumari
Ad

Highlights

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि पर्यटन से जुड़े प्रत्येक मुद्दे को ध्यान में रखते हुए रिस्पांसिबल टूरिज्म स्टेट के रूप में उभरना हमारा लक्ष्य है। उन्होंने पर्यटन से जुड़े विभिन्न क्षेत्रों के लोगों का स्वागत करते हुए कहा कि आप सब अपने-अपने क्षेत्र में बहुत अच्छा काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि रिस्पांसिबल टूरिज्म अवार्ड के द्वितीय संस्करण में इस बार  400 प्रविष्टियां आई है

जयपुर । उप मुख्यमंत्री दिया कुमारी ने कहा है कि क्लाइमेट चेंज एक चुनौती है इससे प्लेनेट को बचाने के लिए हमें युद्ध की तरह इन चुनौतियों से लड़ना होगा। उन्होंने कहा कि रिस्पांसिबल टूरिज्म में राजस्थान अग्रणी प्रदेश बनने के लिए कार्य कर रहा है।

Deputy Chief Minister Diya Kumari

उप मुख्यमंत्री ने पर्यटन विभाग और आउटलुक के समन्वय से सोमवार को इंडियन रिस्पांसिबल टूरिज्म स्टेट सम्मिट एंड अवॉर्ड्स राजस्थान 2023 के सेकंड एडिशन के जयपुर स्थित होटल में आयोजित समारोह को मुख्य अतिथि के रूप में सम्बोधित करते हुए उक्त विचार व्यक्त किए।

दिया कुमारी ने संबोधन में कहा कि हमें प्लास्टिक के उपयोग से बचना चाहिए, सोलर एनर्जी की ओर बढ़ना चाहिए, पानी और बिजली बचाने होगी, पर्यावरण को बचाना होगा, ऑर्गेनिक चीजों के उपयोग को बढ़ावा देना होगा और रिसायकल और रियूज पर लक्षित होना होगा तभी हम हमारी धरती मां को बचा सकते हैं।

पर्यटन स्थलों पर सभी तरह की सुविधाएं विकसित हो। पर्यटकों को किसी भी तरह की परेशानी न हो, उन्हें संपूर्ण आतिथ्य का भाव की अनुभूति हो यह रिस्पांसिबल टूरिज्म की अवधारणा है। उन्होंने रिस्पांसिबल टूरिज्म को बढ़ाने के लिए सभी मीडिया हाउसों का भी आवाहन किया कि वे बेहतर मीडिया कवरेज अपना योगदान दें।

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि पर्यटन से जुड़े प्रत्येक मुद्दे को ध्यान में रखते हुए रिस्पांसिबल टूरिज्म स्टेट के रूप में उभरना हमारा लक्ष्य है। उन्होंने पर्यटन से जुड़े विभिन्न क्षेत्रों के लोगों का स्वागत करते हुए कहा कि आप सब अपने-अपने क्षेत्र में बहुत अच्छा काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि रिस्पांसिबल टूरिज्म अवार्ड के द्वितीय संस्करण में इस बार  400 प्रविष्टियां आई है

जो कि पिछले साल 100 ही थी। राजस्थान का रिस्पांसिबल टूरिज्म स्टेट के रूप में उभरने का यह एक बेहतर उदाहरण है, लेकिन इस क्षेत्र में अभी बहुत काम किया जाना बाकी है। जिस पर हम सबको मिलकर काम करना होगा और राज्य को पर्यटन की दृष्टि से सिरमौर बनने के लिए हर बेहतर प्रयास किया जाना है।

पर्यटन विभाग की  निदेशक डॉ. रश्मि शर्मा ने समारोह में सहभागियों का धन्यवाद दिया और कहा कि आप सब के योगदान से इस तरह के आयोजन कर हम पर्यटन के विकास के लिए लगातार काम करेंगे। उन्होंने जूरी का धन्यवाद दिया कि पारदर्शिता के साथ पुरस्कारों के योग्य प्रतिभगियों चयन किया।

इस अवसर पर आउटलुक ग्रुप के सीईओ इंद्रानी रॉय ने कहा कि रिस्पांसिबल पर्यटन आज के समय की जरुरत है। मीडिया को भी इसको बढ़ावा देने के लिए कार्य किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि राजस्थान टूरिज्म ने इस जिम्मेदारी को समझा है और शानदार काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पर्यटन से जुड़ी प्रत्येक छोटे से छोटी चीज का ध्यान रखकर ही रिस्पांसिबल टूरिज्म को आगे बढ़ाया जा सकता है।

समारोह में पर्यटन विभाग की संयुक्त निदेशक सुमीता सरोच, पुनीता सिंह, उपनिदेशक दिलीप सिंह, उपेंद्र सिंह शेखावत तथा अन्य वरिष्ठ विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Must Read: सीएम गहलोत बोले- दिसंबर 2024 को कॉमर्शियल प्रोडक्शन में आ जाएगी रिफाइनरी

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :