Rajasthan: प्रदूषण मुक्त राजस्थान की संकल्पना साकार करने के लिए करेंगे हर सम्भव प्रयास — वन,पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री

प्रदूषण मुक्त राजस्थान की संकल्पना साकार करने के लिए करेंगे हर सम्भव प्रयास — वन,पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री
Ad

Highlights

इस दौरान शर्मा ने वीसी के माध्यम से मौजूद क्षेत्रीय अधिकारियों से उनके क्षेत्राधिकार में किये जा रहे कार्यों एवं नवाचारों की विस्तार से जानकारी प्राप्त की साथ उनकी कार्यविधियों में आ रही समस्याओं पर चर्चा कर शीघ्र ही समाधान करने का भी आश्वासन दिया।

जयपुर, 2 फरवरी। वन,पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री संजय शर्मा ने कहा कि राजस्थान को देश के सर्वोच्च शुद्ध वातावरण एवं प्रदूषण मुक्त राज्य के रूप में स्थापित करने के लिए हर संभव प्रयास किये जाने चाहिए।
उन्होंने कहा कि  प्रदूषण नियंत्रण मंडल का राज्य में प्रदूषण नियंत्रण के साथ उद्योगों की सुलभ स्थापना एवं संचालन में महत्वपूर्ण योगदान है। इसीलिए मंडल अन्य विभागों के साथ समन्वय स्थापित कर कार्य करे जिससे राज्य प्रगति पथ पर तेज गति से अग्रसर हो सके।
संजय शर्मा शुक्रवार को राजस्थान प्रदूषण नियंत्रण मंडल परिसर में मंडल की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। इस दौरान मंडल परिसर में उन्होंने सर्वप्रथम वृक्षारोपण किया वहीं मंडल अध्यक्ष श्री शिखर अग्रवाल एवं अन्य मंडल अधिकारियों ने उनका स्वागत किया।
तत्पश्चात उन्होंने मंडल अधिकारियों की कार्य विधियों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए वन, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन व प्रदूषण नियंत्रण मंडल में विभागीय अधिकारियों एवं मंडल अधिकारी को आपस में समन्वय स्थापित कर कार्ययोजना को अंजाम देने के निर्देश दिए।
उन्होंने कहा कि मंडल के अधिकारियों के लिए हितधारकों का हित सदैव सर्वोपरि होना चाहिए। ऐसे में लंबित पड़े कार्यों को शीघ्र निपटाए एवं निश्चित समयावधि में ही कार्यों को किया जाना सुनिश्चित करें ताकि आमजन का राज्य सरकार पर सम्पूर्ण विश्वास बना रहे। 
- चिन्हित अत्यधिक प्रदूषित क्षेत्रों को  प्रदूषण मुक्त करने की शीघ्र हो कार्यवाही
उन्होंने कार्यों की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देशित किया कि चिन्हित अत्यधिक प्रदूषित क्षेत्रों में मौका मुआयना कर प्रदूषण मुक्त करने की संभावनाओं पर काम करें एवं तदनुसार सुविधाओं को विकसित करें ताकि राज्य प्रदूषण मुक्त राज्यों की श्रेणी में प्राथमिकता से शामिल हो सकेगा।
बैठक के दौरान मंडल अध्यक्ष श्री शिखर अग्रवाल ने मंडल द्वारा किये गए कार्यों की प्रगति समीक्षा प्रस्तुत कर मंडल की कार्यप्रणाली से अवगत करवाया। इस अवसर पर उन्होंने गत समय में मंडल में हुए नवाचार एवं ईज ऑफ़ डूइंग बिजनेस की राह में किये गए कार्यों की प्रगति से भी अवगत करवाया।
इस दौरान संजय शर्मा ने कार्यों की प्रगति की प्रशंसा करते हुए कहा कि अधिकारी क्षेत्र में जाकर वस्तुस्थिति का आंकलन कर ही जुर्माना या सम्मति निरस्त करने जैसी कार्यवाहियों को अंजाम दें एवं मंडल में होने वाली शिकायतों की सत्यता की भी जाँच करें।
इस दौरान शर्मा ने वीसी के माध्यम से मौजूद क्षेत्रीय अधिकारियों से उनके क्षेत्राधिकार में किये जा रहे कार्यों एवं नवाचारों की विस्तार से जानकारी प्राप्त की साथ उनकी कार्यविधियों में आ रही समस्याओं पर चर्चा कर शीघ्र ही समाधान करने का भी आश्वासन दिया।
इस दौरान मंत्री श्री संजय शर्मा द्वारा मंडल की वार्षिक रिपोर्ट 2022-2023, मंडल का न्यूज़लेटर, इ- वेस्ट इन्वेंटराइजेशन रिपोर्ट, मंडल के समस्त आदेशों की पुस्तक, राज्य में लाल , नारंगी, हरी, एवं श्वेत क्ष्रेणी के उद्योगों के वर्गीकरण की पुस्तक का विमोचन भी किया।
बैठक के समापन पर मंडल के सदस्य सचिव श्री विजय एन ने मंत्री श्री संजय शर्मा का धन्यवाद ज्ञापित किया। इस दौरान मंडल के वरिष्ठ अधिकारियों सहित समस्त क्षेत्रीय अधिकारी वीसी के माध्यम से मौजूद रहे।

Must Read: पटवारी ने तहसीलदार को धमकाकर कहा कि आप मेरे प्यार के बीच में ना आए, बात कलेक्टर तक पहुंची तो हो गया सस्पेंड

पढें राज्य खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :