AAP का आरोप: राजस्थान में भ्रष्ट अधिकारियों को संरक्षण देने के लिए भाजपा-कांग्रेस में चल रहा कॉम्पिटिशन 

राजस्थान में भ्रष्ट अधिकारियों को संरक्षण देने के लिए भाजपा-कांग्रेस में चल रहा कॉम्पिटिशन 
Naveen Paliwal
Ad

Highlights

AAP प्रदेश अध्यक्ष पालीवाल ने कहा कि राजस्थान में भ्रष्ट अधिकारियों को सियासी संरक्षण देने को लेकर दोनों ही दलों में प्रतियोगिता चल रही है, लेकिन अब राजस्थान की जनता इन संरक्षणदाताओं को उनकी सियासी प्रतियोगिता में धूल चटाने का मन बना चुकी है।

जयपुर | राजस्थान में भाजपा और कांग्रेस की जड़े ढिली करने में लगी आम आदमी पार्टी ने एक बार फिर से दोनों पर निशाना साधा है। 

जहां दो दिन पूर्व जयपुर आए आम आदमी पार्टी संयोजक और दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने प्रदेश की जनता को 6 गारंटियां दी, वहीं गुरूवार को पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नवीन पालीवाल ने भ्रष्टाचार को लेकर कांग्रेस और बीजेपी पर निशाना साधा है। 

उन्होंने कहा कि इन दोनों ही दलों ने प्रदेश को भ्रष्टाचार की खाई में धकेलने का काम किया है, जब-जब लोगों को लगता है कि अब कुछ राहत है तभी भ्रष्टाचार का एक नया मामला सामने आ जाता है। 

दोनों पार्टियों में चल रही प्रतियोगिता

प्रदेश अध्यक्ष पालीवाल ने कहा कि राजस्थान में भ्रष्ट अधिकारियों को सियासी संरक्षण देने को लेकर दोनों ही दलों में प्रतियोगिता चल रही है, लेकिन अब राजस्थान की जनता इन संरक्षणदाताओं को उनकी सियासी प्रतियोगिता में धूल चटाने का मन बना चुकी है।

नवीन पालीवाल ने कहा कि पीडब्ल्यूडी जैसे महत्वपूर्ण विभाग के तीन अधिकारियों को रिश्वत के लेन-देन के मामले में शामिल होना चिंता का विषय है। 

भ्रष्टाचार का जाल ऊपरी स्तर से नीचे तक इस तरह फैला है कि पीडब्ल्यूडी के चीफ इंजीनियर से लेकर एक्सईएन और एईएन अनंत कुमार गुप्ता को 10 लाख रुपए रिश्वत का लेन-देन करने के मामले में गिरफ्तारी हुई। 

पालीवाल ने कहा कि प्रदेश सरकार भले ही भ्रष्टाचारियों पर कार्रवाई को लेकर अपनी पीठ थपथपा ले, लेकिन सबसे बड़ा सवाल ये है कि घूस दिलवाने वाले जिस अधिकारी अनंत कुमार गुप्ता को गिरफ्तार किया गया है उसपर खुद मंत्री अर्जुन बामनिया ने भूमाफियाओं को फायदा पहुंचाने का आरोप लगाया था। 

उसके बावजूद अनंत कुमार गुप्ता का कुछ नहीं हुआ। इससे साफ जाहिर है कि भ्रष्टाचारियों की जड़ें काफी मजबूत हैं।

भाजपा भी कम नहीं

इसी के साथ प्रदेश अध्यक्ष ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने में बीजेपी भी पीछे नहीं है। 

पूर्ववर्ती वसुंधरा राजे की सरकार में भी पेपर लीक, अवैध खनन जैसे कई मामले सामने आए। 

पालीवाल ने कहा कि जितने भी  भ्रष्ट अधिकारी पकड़े जा रहे हैं उनकी अगर सही से जांच हो जाए तो कई सफेदपोश भी बेनकाब हो जाएंगे। 

नवीन पालीवाल ने कहा कि प्रदेश में बीजेपी की सियासी कमजोरी का अंदाजा यहीं से लगाया जा सकता है कि उनको राजस्थान की जनता की नब्ज टटोलने के लिए अलग-अलग राज्यों से 200 विधायकों को बुलाना पड़ रहा है। 

बीजेपी नेताओं ने जनता के लिए काम नहीं किया इसलिए विधानसभा चुनाव ने बीजेपी के माथे पर बल ला दिया है।

Must Read: फिर से मुकाबले को तैयार सुभाष महरिया और गोविंद सिंह डोटासरा, 10 साल बाद होगी सियासी जंग

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :