माइनर मिनरल प्लॉट: राज्य में माइनर मिनरल प्लॉटों की नीलामी

राज्य में माइनर मिनरल प्लॉटों की नीलामी
Minor Mineral Plot
Ad

Highlights

राज्य में 452.32 हैक्टेयर क्षेत्रफल के 339 माइनर मिनरल प्लॉटों की नीलामी 

जयपुर। राज्य में 452.32 हैक्टेयर क्षेत्रफल के 339 माइनर मिनरल प्लॉटों की नीलामी ई-पोर्टल एमएसटीसी पर 7 फरवरी बुधवार से आरंभ हो रही है। निदेशक माइंस एवं भूविज्ञान डॉ. प्रज्ञा केवलरमानी ने बताया कि इसमें 63 हैक्टेयर क्षेत्रफल के 131 प्लॉटों की क्वारी लाइसेंस के लिए ई-नीलामी होगी वहीं 208 खनन प्लाटों की नीलामी होगी।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री  भजन लाल शर्मा ने 11 जनवरी को माइंस विभाग की समीक्षा बैठक के दौरान अवैध खनन गतिविधियों के खिलाफ राज्यव्यापी अभियान चलाने के निर्देश दिए थे वहीं प्रदेश में वैध खनन को बढ़ावा देने के लिए माइनिंग ब्लॉकों की नीलामी पर जोर दिया था।

खान सचिव श्रीमती आनन्दी ने विभाग की वर्चुअल बैठकों के दौरान मेजर एवं माइनिंग ब्लॉक तैयार कर उनकी ई-नीलामी शीघ्र शुरू करने के निर्देश दिए। विभाग द्वारा ई-नीलामी सूचना जारी कर दी गई है और माइनर मिनरल के ब्लॉकों की नीलामी 7 फरवरी से शुरू होने के साथ 29 फरवरी तक चलेगी। ई-नीलामी प्रक्रिया व विस्तृत विवरण विभागीय वेबसाइट व भारत सरकार के ई पोर्टल पर देखा जा सकता है।

क्वारी लाइसेंस नीलाम वाले प्लॉट्स छोटी साइज के होने से स्थानीय लोगों व कम साधन वाले इच्छुक भी नीलामी में भाग लेने का अवसर मिल पाता है और माइनिंग क्षेत्र में स्थानीय भागीदारी बढ़ जाती है। माइनर मिनरल के इन प्लॉटों की ई नीलामी पारदर्शी तरीके से एमएसटीसी पोर्टल पर होगी।

निदेशक माइंस डॉ. प्रज्ञा केवलरमानी ने बताया कि भीलवाड़ा, जोधपुर ग्रामीण व चित्तौड़गढ़ के 63 हैक्टेयर क्षेत्रफल के मुख्यतः सेंड स्टोन के 131 क्वारी प्लॉटों की ई-नीलामी की जाएगी। यह नीलामी प्रक्रिया 7 फरवरी को आरंभ होकर 21 फरवरी तक चलेगी। नीलामी का विस्तृत कार्यक्रम विभागीय वेबसाइट व एमएसटीसी प्लेटफार्म पर देखी जा सकती है। क्वारी लाइसेंस 30 वर्ष की अवधि के लिए जारी होंगे।

इसी तरह से पाली, सिरोही, प्रतापगढ़, अजमेर, करौली, भीलवाड़ा, चित्तौड़गढ, ब्यावर, जोधपुर ग्रामीण, बीकानेर, सांचोर, राजसमंद, उदयपुर, नीम का थाना के माइनर मिनरल मारबल, क्वार्टज फेल्सपार, बॉल क्ले, सिलिकासेंड, चाइना क्ले, सेंड स्टोन, व मेसेनरी स्टोन के 208 खनिज प्लॉटों के 50 वर्ष की अवधि के लिए माइनिंग लाइसेंस ई नीलामी से जारी होंगे। ई-नीलामी प्रक्रिया बुधवार 7 फरवरी से शुरू होकर 29 फरवरी तक चलेगी।

नीलामी में भाग लेने के इच्छुक आमजन, कंपनियां आदि कोई भी कहीं से भी एमएसटीसी पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराकर निश्चित दिनांक व निर्धारित समयानुसार हिस्सा ले सकते हैं। क्वारी प्लॉटों व माइनिंग प्लॉटों की विस्तृत जानकारी, प्रक्रिया और अन्य शर्तें आदि विभागीय वेबसाइट व एमएसटीसीपोर्टल पर उपलब्ध है।

 विभाग द्वारा इसी माह मेजर मिनरल ब्लॉकों की नीलामी की भी आवश्यक तैयारियां पूरी कर ई-नीलामी की जाएगी।

Must Read: क्या मारवाड़ से चुनाव लड़ने की तैयारी में हैं प्रवासी नेता ’राज के पुरोहित’

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :