लोकसभा चुनाव: रविंद्र सिंह भाटी के साथ हो रहा भोजपुरी सुपर स्टार पवन सिंह का ज़िक्र

रविंद्र सिंह भाटी के साथ हो रहा भोजपुरी सुपर स्टार पवन सिंह का ज़िक्र
लोकसभा सीट से निर्दलीय प्रत्याशी
Ad

Highlights

निर्दलीय प्रत्याशी रविंद्र सिंह भाटी सोशल मीडिया से लेकर सियासती गलियारों तक चर्चाओं में 

रविंद्र सिंह भाटी की ही तरह पवन सिंह ने भी लोकसभा चुनाव मैदान में निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर ताल ठोक रखी है

जयपुर | राजस्थान की बाड़मेर-जैसलमेर लोकसभा सीट से निर्दलीय प्रत्याशी रविंद्र सिंह भाटी, सोशल मीडिया से लेकर सियासती गलियारों तक चर्चाओं में हैं। इसी दौरान पिछले कुछ दिनों से उनके नाम के साथ भोजपुरी सिनेमा के स्टार अभिनेता(Actor) पवन सिंह के नाम का भी ज़िक्र होने लगा है।

असल में, रविंद्र सिंह भाटी की ही तरह पवन सिंह ने भी लोकसभा चुनाव मैदान में निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर ताल ठोक रखी है। पवन बिहार की काराकाट लोकसभा सीट से विरोधी राजनीतिक पार्टियों के उम्मीदवारों को टक्कर दे रहे हैं। इसके चलते दोनों उम्मीदवारों की समानता को लेकर चर्चा होने लगी है।
प्रतिद्वंदियों के पसीने छुड़ा रखे
रविंद्र सिंह भाटी और पवन सिंह, दोनों ने लोकसभा चुनाव(Lok Sabha Elections) में अपनी उम्मीदवारी करते हुए प्रतिद्वंदी राजनीतिक पार्टियों और उनके उम्मीदवारों के पसीने छुड़ा रखे हैं। भाटी के उतरने से बाड़मेर-जैसलमेर और पवन सिंह के उतरने से काराकाट लोकसभा सीट पर मुकाबला त्रिकोणीय बना हुआ है।
मजबूत प्रतिद्वंदी सामने 
दोनों ‘स्टार’ उम्मीदवारों का मुकाबला आसान नहीं है। बाड़मेर-जैसलमेर सीट पर जहां रविंद्र सिंह भाटी के सामने भाजपा प्रत्याशी व केंद्रीय राज्य मंत्री कैलाश चौधरी और कांग्रेस प्रत्याशी उम्मेदाराम बेनीवाल हैं, वहीं बिहार की काराकाट लोकसभा सीट पर पवन सिंह की टक्कर एनडीए(NDA) समर्थित राष्ट्रीय लोक मोर्चा प्रत्याशी उपेंद्र कुशवाह और महागठबंधन समर्थित कॉम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (मार्क्सवादी-लेनिनवादी) प्रत्याशी राजा राम सिंह से है।
जनसभा में उमड़ी भीड़

रविंद्र सिंह भाटी और पवन सिंह ने अपने-अपने लोकसभा क्षेत्र में जीत हासिल करने के लिए पूरी ताकत लगा डाली। दोनों की लगभग हर जनसभा में भीड़ उमड़ी जिसे इनके ‘शक्ति प्रदर्शन’ के तौर पर भी देखा गया। दोनों की नामांकन सभा के दौरान भी समर्थक बड़ी संख्या में जुटे थे।
BJP की ‘बी टीम’ होने का आरोप
रविंद्र सिंह भाटी और पवन सिंह दोनों में एक समानता और है, जिसकी चर्चा है। दरअसल, दोनों स्टार उम्मीदवारों ने पहले भाजपा से टिकट की मांग की थी, लेकिन जब टिकट नहीं मिला तब निर्दलीय ताल ठोक डाली। ऐसे में दोनों उम्मीदवारों पर प्रतिद्वंदियों द्वारा भाजपा की ‘बी टीम’ होने के आरोप लग रहे हैं।  रविंद्र सिंह भाटी और पवन सिंह सोशल मीडिया पर करोड़ों फ़ॉलोअर्स(followers), फैन फ़ॉलोइंग्स के मामले में भी एक ख़ास पहचान रखते हैं। सोशल मीडिया के लगभग सभी प्लेटफॉर्म्स(Platforms) पर इन शख्सियतों की मौजूदगी है। यहां इनके करोड़ों फ़ॉलोअर्स(followers) सब्सक्राइबर्स(subscribers) हैं।

Must Read: भाजपा प्रदेश लोकसभा चुनाव प्रभारी विनय सहस्त्रबुद्धे ने ली प्रदेश प्रवक्ताओं और पैनलिस्ट की बैठक

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :