नौतपा के चौथे दिन: अजमेर में आठ साल का रिकॉर्ड तोडा, स्कूटी में लगी आग, अगले 3 दिन चलेगी लू

अजमेर में आठ साल का रिकॉर्ड तोडा, स्कूटी में लगी आग, अगले 3 दिन चलेगी लू
नौतपा का चौथा दिन, स्कूटी में लगी आग
Ad

Highlights

  • करीब 47 साल पहले 19 मई 1977 के दिन अजमेर का तापमान 47.4 डिग्री रहा था। यह सर्वाधिक है, इससे ऊपर अब तक तापमान दर्ज नहीं किया गया। मौसम विभाग के मुताबिक न्यूनतम तापमान 33.1 डिग्री रिकार्ड किया गया।
  • श्रीनगर घाटी में तेज गर्मी के कारण चलती इलेक्ट्रिक स्कूटी में आग लग गई। गर्मी से बैटरी फट जाने पर आग लगी

अजमेर | गर्मी के प्रचंड ने नौतपा के चौथे दिन आठ साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया। दिन का पारा 46.3 डिग्री तक पहुंच गया। आज भी अजमेर मै रेड अलर्ट है और जेएलएन हॉस्पिटल में लगातार गर्मी से पीड़ित मरोजो की संख्या में बढ़ोतरी। वहीं सोमवार रात सीजन की सबसे रात गर्म रही। न्यूनतम पारा 33.1 डिग्री रहा। वहीं तेज गर्मी के कारण श्रीनगर घाटी में इलेक्ट्रिक स्कूटी में आग लग गई।

मौसम विभाग का दावा है कि आने वाले 72 घंटे में अजमेर संभाग के कुछ भागों में 25 से 35 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तेज समस्तर हवा चलेगी। 29 मई के बाद तापमान 2 से 3 डिग्री तक गिर सकता है। जून के प्रथम सप्ताह में दिन का पारा सामान्य के आसपास रहने का अनुमान लगाया जा रहा है।

रात के पारे में 2.3 डिग्री की बढ़ोतरी

करीब 47 साल पहले 19 मई 1977 के दिन अजमेर का तापमान 47.4 डिग्री रहा था। यह सर्वाधिक है, इससे ऊपर अब तक तापमान दर्ज नहीं किया गया। मौसम विभाग के मुताबिक न्यूनतम तापमान 33.1 डिग्री रिकार्ड किया गया। एक दिन पहले न्यूनतम पारा 30.8 डिग्री था। रात के पारे में 2.3 डिग्री की बढ़ोतरी हुई। इस सीजन में अब तक सर्वाधिक न्यूनतम पारा 33.1% है। एक मई से अब तक रात का पारा 19.5 से 31.9% के बीच बना हुआ था।

इलेक्ट्रॉनिक स्कूटी में लगी आग

अजमेर जिले के श्रीनगर घाटी में तेज गर्मी के कारण चलती इलेक्ट्रिक स्कूटी में आग लग गई। गर्मी से बैटरी फट जाने पर आग लगी उसके बाद स्कूटी चालक  स्कूटी छोड़कर मौके से भाग निकला।

हिट स्ट्रोक के मरीजों को लेकर हॉस्पिटल अलर्ट

प्रचंड गर्मी और हीट वेव के कारण बीमार पड़ रहे मरीज लगातार बढ़ रहे है। जेएलएन अस्पताल के अधीक्षक डॉक्टर अरविंद खरे (Arvind khare) ने नर्सिंग और सीनियर डॉक्टर को 24 घंटे अलर्ट रहने के लिए निर्देश दिए हैं। अधीक्षक लगातार खुद मॉनिटरिंग कर रहे हैं। अस्पताल में एसी, कूलर ठीक रखने, आइस क्यूब, बर्फ रखने को लेकर अधीक्षक ने आदेश दिए है।

गर्मी से कल 5 मौत हुई

गर्मी के प्रचंड में सोमवार को चार सीनियर सिटीजन सहित 5 लोगों की हीट स्ट्रोक से मौत हो गई। ओपीडी में 30 मरीज हीट स्ट्रोक की शिकायत लेकर भर्ती हुए। सात मरीज वेंटिलेटर पर हैं। चार ट्रोमा यूनिट और तीन आपातकालीन यूनिट में भर्ती हैं। बुजुर्गों को परिजन ब्रॉड डेड अस्पताल लाए थे। विभाग ने हीट स्ट्रोक से मौत होना नहीं स्वीकारा है।

चारों मृतकों को 108 डिग्री से अधिक बुखार था। एक सड़क पर व दूसरा घर पर अचेत मिला था। श्रीनगर के शौकीन (shoukin) (65), कैलाशपुरी के नंद किशोर (54), सरस्वती नगर देवीलाल (74), पहाड़गंज के मोहनलाल (77), किशनगढ़ की ज्ञाना देवी (80) की हीट स्ट्रोक के कारण मौत हो गई।

Must Read: सचिन पायलट गुट के विधायक और वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने कर दिया ऐलान, अब नहीं लड़ेंगे विधानसभा के लिए चुनाव

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :