ये दोस्ती हम नहीं तोड़ेंगे: सोनाराम चौधरी के लिए प्रचार में उतरे मंत्री हेमाराम, कही ये बड़ी बात

सोनाराम चौधरी के लिए प्रचार में उतरे मंत्री हेमाराम, कही ये बड़ी बात
Hemaram Choudhary - Sonaram Choudhary
Ad

Highlights

प्रदेश के बाड़मेर जिले की गुड़ामालानी विधानसभा से कांग्रेस विधायक और गहलोत सरकार में वन मंत्री हेमाराम चौधरी (Hemaram Choudhary) खुद ऐसे नेता है जिन्होंने इस बार टिकट लेने से इनकार कर दिया। 

बाड़मेर | राजस्थान में चुनावी राजनीति के गजब के रंग देखने को मिल रहे हैं। 

प्रदेश के बाड़मेर जिले की गुड़ामालानी विधानसभा से कांग्रेस विधायक और गहलोत सरकार में वन मंत्री हेमाराम चौधरी (Hemaram Choudhary) खुद ऐसे नेता है जिन्होंने इस बार टिकट लेने से इनकार कर दिया। 

युवा नेताओं को मौका देने के लिए टिकट ठुकरा देने पर कांग्रेस पार्टी ने तो उनसे भी उम्र दराज नेता कर्नल सोनाराम चौधरी (Sonaram Choudhary) को टिकट थमा कर चुनावी रण में उतार दिया।

इसके बावजूद भी हेमाराम कांग्रेस प्रत्याशी सोनाराम के साथ मिलकर चुनाव प्रचार करते दिख रहे हैं और कांग्रेस के लिए वोट मांग रहे हैं। 

ऐसे में क्षेत्रवासी उनकी जमकर तारीफ करते दिख रहे हैं। हेमाराम चौधरी ने कहा है कि मैंने कांग्रेस आलाकमान से कहा था कि आप जिसे टिकट देंगे, मैं उसके साथ रहकर कांग्रेस को मजबूत करूंगा। मैं इसी वादे को निभा रहा हूं। 

पद पर ना भी रहूं, फिर भी जनता का काम करवाने की ताकत रखता हूं

आपको बता दें कि मंत्री हेमाराम ने ये भी दावा किया है कि मैं चाहे किसी पद पर ना भी रहूं, फिर भी मैं जनता का काम करवाने की ताकत रखता हूं।

मैंने चुनाव लड़ने से इनकार किया था और मैंने अपना शब्दों पर काबिज रहा। चुनाव नहीं लड़कर भी मैं अगले 5 साल जनता के बीच में ही रहूंगा और उनकी समस्याओं का समाधान करवाऊंगा। 

आपको बता दें कि 75 साल के हो चुके 6 बार के विधायक और मंत्री हेमाराम चौधरी ने उम्र का हवाला देते हुए कहा था कि अब मुझे युवाओं के लिए अपनी सीट छोड़ देनी चाहिए ताकि युवा कार्यकर्ताओं को मौका मिल सके। 

कांग्रेस पार्टी को भी अब युवाओं को ज्यादा अवसर देना चाहिए, क्योंकि पार्टी ने उन्हें भी युवा अवस्था में बड़ा अवसर दिया था।

हालांकि, गुड़ामालानी क्षेत्र के लोग हेमाराम चौधरी को किसी भी हालत में चुनाव लड़ाने पर अड़े रहे। लोगों ने सभाएं कर उन्हें मनाने के लिए जमकर प्रयास किया और चुनाव लड़ाने के लिए अड़ गए, लेकिन युवाओं को मौका देने के लिए हेमाराम ने चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया। 

पिछले दिनों ही बाड़मेर जिले के गुढ़मलानी विधायक और वन मंत्री हेमाराम चौधरी का एक वीडियो भी जमकर वायरल हुआ है जिसमें उनके समर्थक उन्हें चुनाव लड़ने के लिए मनाते दिख रहे हैं।

क्षेत्र में उनकी लोकप्रियता इतनी है कि उनके मना करने के बाद समर्थक रोने लगे और अपनी पगड़ी भी उतार कर रख दी।

हालांकि, मंत्री हेमाराम चौधरी अपनी बात पर कायम रहे हैं। उन्होंने समर्थकों से साफ कहा कि अगर आप लोग नहीं मानोगे तो मैं अन्न-जल त्यागकर धरने पर बैठ जाऊंगा। 

Must Read: अहमदाबाद में प्रवासी राजस्थानियों ने भरी बदलाव की हुंकार, वैभव पर जताया भरोसा

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :