मेरे ऊपर पार्टी-वार्टी की बंदिश नहीं: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रिछपाल मिर्धा बोले- बेटी BJP से चुनाव लड़ेगी तो प्रचार करना ही पड़ेगा

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रिछपाल मिर्धा बोले- बेटी BJP से चुनाव लड़ेगी तो प्रचार करना ही पड़ेगा
Ad

Highlights

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जिस नेता को राज्य मंत्री का दर्जा दिया, उसी मंत्री ने चुनावों से पहले कांग्रेस पार्टी की मुश्किले बढ़ा दी है। कांग्रेस के पूर्व विधायक और वरिष्ठ नेता रिछपाल मिर्धा बेटी ज्योति मिर्धा के समर्थन में भाजपा के लिए प्रचार करने जा रहे हैं। 

नागौर | राजस्थान में प्रत्यशियों की सूची को लेकर कशमकश में लगी कांग्रेस को उसी के एक दिग्गज नेता का बयान भारी पड़ता दिख रहा है। 

राजस्थान के मुख्यमंत्री शोक गहलोत ने जिस नेता को राज्य मंत्री का दर्जा दिया, उसी मंत्री ने चुनावों से पहले कांग्रेस पार्टी की मुश्किले बढ़ा दी है। 

दरअसल, कांग्रेस के पूर्व विधायक और वरिष्ठ नेता रिछपाल मिर्धा भतीजी ज्योति मिर्धा (Jyoti Mirdha) के समर्थन में भाजपा के लिए प्रचार करने जा रहे हैं। 

उनका कहना है कि अगर उनकी बेटी ज्योति मिर्धा खींवसर से चुनाव लड़ती है तो वे उसके लिए प्रचार-प्रसार करेंगे। 

उनके इस बयान से कांग्रेस पार्टी में सियासी हलचल तेज हो गई है।

बता दें कि पिछले दिनों ही ज्योति मिर्धा ने कांग्रेस का हाथ छोड़कर भाजपा का दामन थामा है। 

ऐसे में माना जा रहा है कि भारतीय जनता पार्टी अब उन्हें नागौर से टिकट देकर चुनावी मैदान में उतारने की तैयारी में है।

बता दें कि ज्योति मिर्धा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रिछपाल मिर्धा की भतीजी है।

कांग्रेस विधायक विजयपाल मिर्धा के सामने कही प्रचार की बात

दरअसल, वीर तेजा कल्याण बोर्ड का अध्यक्ष बनने के बाद रिछपाल मिर्धा रविवार को नागौर के डेगाना में पहुंचे थे। 

इस दौरान एक कार्यक्रम में रिछपाल मिर्धा ने भाजपा ज्वॉइन करने वाली पूर्व सांसद ज्योति मिर्धा के समर्थन में प्रचार करने की बात कही है। 

उन्होंने कहा कि लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि खींवसर से ज्योति मिर्धा चुनाव लड़ती है तो मुझे उसके लिए प्रचार करने तो  जाना पड़ेगा। 

किसी की कोई बंदिश नहीं

इसके के साथ उन्होंने ये भी कहा कि मैं तो आपकी तरह बिल्कुल खुल्ला हूं। मेरे ऊपर पार्टी-वार्टी की कोई बंदिश नहीं है। बस आप तो मेरे ऊपर मेहरबानी रखना। 

इस दौरान उनके बेटे और डेगाना से कांग्रेस विधायक विजयपाल मिर्धा भी मौजूद थे।

Must Read: सीएम गहलोत ने नहीं मानी मांग, तो विधायक ने सौंप दिया इस्तीफा

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :