तो क्या कट गया महेश जोशी का टिकट: हवामहल से आरआर तिवाड़ी ने भरा नामांकन, कहा- आ गया हाईकमान का फोन

हवामहल से आरआर तिवाड़ी ने भरा नामांकन, कहा- आ गया हाईकमान का फोन
Mahesh Joshi - RR Tiwari
Ad

Highlights

हवामहल सीट से शहर कांग्रेस अध्यक्ष आरआर तिवाड़ी (RR Tiwari) ने शनिवार को अपना नामांकन भर दिया है। उन्होंने दावा करते हुए मीडिया से कहा कि मुझे पार्टी ने प्रत्याशी बनाया है। मेरे पास हाईकमान से फोन भी आ गया है। 

जयपुर | प्रदेश की राजधानी जयपुर की हवामहल सीट पर नया मोड आ गया है। 

इस सीट पर पिछले कई दिनों से कांग्रेस में प्रत्याशी उतारने को लेकर चल रही गहमा-गहमी के बीच शनिवार को एक कांग्रेसी नेता ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) का पूरा सियासी समीकरण ही बिगाड़ दिया है।

पार्टियों द्वारा टिकट काटने के बावजूद भी नेता और विधायक अपनी दावेदारी जताते हुए बिना प्रत्याशी घोषित हुए ही स्वंयभू प्रत्याशी बनकर नामांकन भरते दिख रहे हैं। 

तो क्या कट गया महेश जोषी का टिकट ?

राजधानी जयपुर की हवामहल सीट भी कांग्रेस के लिए बड़ा सिरर्दद बनी हुई है। 

यहां से कांग्रेस के जलदाय मंत्री और सीएम अशोक गहलोत के करीबी महेश जोशी (Mahesh Joshi) का टिकट कटने के संकेत मिल रहे हैं। 

दरअसल, हवामहल सीट से शहर कांग्रेस अध्यक्ष आरआर तिवाड़ी (RR Tiwari) ने शनिवार को अपना नामांकन भर दिया है।

उन्होंने दावा करते हुए मीडिया से कहा कि मुझे पार्टी ने प्रत्याशी बनाया है। मेरे पास हाईकमान से फोन भी आ गया है। 

जबकि, हवामहल से कांग्रेस पार्टी ने अभी तक किसी भी उम्मीदवार की घोषणा नहीं की है।

गौरतलब है कि चाहे भाजपा हो या कांग्रेस दोनों ही पार्टी के नेताओं में टिकट वितरण को लेकर महासंग्र्राम छिड़ा हुआ है। 

टिकट नहीं मिलने से नाराज नेता या तो पार्टी से दूसरी पार्टी में कूच कर रहे हैं या निर्दलीय ताल ठोक रहे हैं। 

पहले कहा था कि मैं चुनाव नहीं लडूंगा

गौरतलब है कि जुलाई 2023 में जयपुर जिला अध्यक्ष बनने के बाद आरआर तिवाड़ी ने कहा था कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मेरा सपना पूरा किया है। अब जयपुर की 8 सीटों को जीताकर उन्हें देना ही मेरा दायित्व है। 

उन्होंने कहा था कि मैंने 1977 में अपनी कांग्रेस की राजनीति शुरू की और पान की दुकान से लेकर गली मोहल्ले में मोटरसाइकिल पर बैठकर कांग्रेस के लिए संघर्ष करता रहा।  

उन्होंने ये भी कहा था कि वह विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे। मेरा लक्ष्य जयपुर शहर की आठों विधानसभा में कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशियों को चुनाव जीताना और अशोक गहलोत को राजस्थान का चौथी बार मुख्यमंत्री बनाना है।

Must Read: बेरहम राजनीति में बोतल और झाड़ू की यह चाल चौंकाने वाली है

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :