दीया कुमारी चुनावों से पहले एक्टिव: पीएम मोदी का मंच संचालन करना बड़ा सियासी संदेश, क्या मिल रही बड़ी जिम्मेदारी

पीएम मोदी का मंच संचालन करना बड़ा सियासी संदेश, क्या मिल रही बड़ी जिम्मेदारी
Diya Kumari
Ad

Highlights

दीया कुमारी भाजपा के कार्यक्रमों में पहले से ज्यादा एक्टिव हो गई हैं। प्रदेश की अशोक गहलोत सरकार के खिलाफ लगातार मोर्चा खोले हुए है।

जयपुर | Rajasthan Election 2023: विधानसभा चुनाव 2023 का समय जैसे-जैसे करीब आता जा रहा है वैसे-वैसे राजसमंद से सांसद दीया कुमारी (Diya Kumari) का सियासी कद भी बढ़ता जा रहा है। 

दीया कुमारी भाजपा के कार्यक्रमों में पहले से ज्यादा एक्टिव हो गई हैं। 

प्रदेश की अशोक गहलोत सरकार के खिलाफ लगातार मोर्चा खोले हुए है। यहां तक की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  (Narendra Modi) की जयपुर रैली में भी दीया कुमारी ने अग्रणीय भूमिका निभाई और मंच का संचालन भी करती दिखीं।

अचानक से दीया कुमारी की भाजपा कार्यक्रमों में इतनी सक्रियता अब सियासी गलियारों में चर्चा का विषय बनती जा रही है।

दीया कुमारी की सक्रियता को देखते हुए माना जा रहा है कि भाजपा उन्हें राजस्थान में चुनाव मैदान में उतार सकती है। दीया कुमारी राजस्थान में भाजपा के लिए एक मजबूत उम्मीदवार हो सकती हैं। वह एक लोकप्रिय चेहरा हैं और उनके पास एक मजबूत राजनीतिक पृष्ठभूमि है।

जहां पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे (Vasundhara Raje) की भाजपा कार्यक्रमों में अनुपस्थिति और पिछले चुनावों से उनके प्रति चली आ रही कुछ लोगों की नाराजगी ने उन्हें और पीछे धखेलने का काम किया है, वहीं दीया कुमारी की सक्रिय भूमिका ने उन्हें लोगों के बीच चर्चित चेहरा बना दिया है। 

ऐसे में अब ये भी सवाल उठा रहा है कि क्या भाजपा राजस्थान की राजनीति में दीया कुमारी को कोई नई और बड़ी जिम्मेदारी तो नहीं देने वाली है। 

क्योंकि राजनीतिज्ञों का मानना है कि राजनीति में हर फैसले के पीछे एक संदेश होता है।

भले ही जयपुर में प्रधानमंत्री मोदी की सभा में महिलाओं जनप्रतिनिधियों और कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारी सौंपी गई हो, लेकिन दीया कुमारी का मंच संचालन करना कोई बड़ा संदेश भी हो सकता है। 

दीया कुमारी मौजूद समय में जयपुर से सांसद है और विधानसभा चुनाव लड़ने को लेकर उनका कहना है कि यदि पार्टी मुझे जो भी जिम्मेदारी देगी, मैं उसे पूरा करूंगी।

साथ ही उन्होंने ये भी साफ कर दिया कि उन्होंने कभी भी पार्टी से इस तरह की मांग नहीं की है। 

भाजपा की इन सांसदों को विधानसभा में उतारने की तैयारी! 

सियासी गलियारों में चर्चाएं हैं कि भाजपा इस बार दीया कुमारी,  लोकसभा स्पीकर ओम बिरला, केंद्रीय मंत्री गजेंद्र शेखावत, केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी के अलावा राज्यवर्धन सिंह राठौड़, स्वामी सुमेधानंद सरस्वती और किरोड़ी लाल मीणा को भी विधानसभा का चुनाव लड़ा सकती है।

दीया ने 2013 में भाजपा में की थी एंट्री 

आपको बता दें कि दीया कुमारी जयपुर के पूर्व राजपरिवार की मेंबर हैं। दीया पूर्व महाराज ब्रिगेडियर भवानी सिंह की बेटी और पूर्व राजमाता गायत्री देवी की पोती हैं। 

2013 में राजनीति में दस्तक देने वाली दीया कुमारी ने जयपुर में एक रैली के दौरान नरेन्द्र मोदी, राजनाथ सिंह औऱ पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की उपस्थिति में भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर थी। 

Must Read: राजेन्द्र गुढ़ा ने लहराई लाल डायरी, विधानसभा में हंगामा, सीपी जोशी ने किया सदन स्थगित, शांति धारीवाल के साथ धक्का—मुक्की की खबर

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :