ड्रग्स की फैक्ट्री का खुलासा : नेल पोलिस रिमूवर के केमिकल से बनाते थे ड्रग्स

Ad

Highlights

जोधपुर जेल से तय हो गया था डुग प्रॉक्डशन प्लांट के लिए गुजरात में मनोहर ऐनानी व राजस्थान में जगदीश विश्नोई इग्स रैकेट मॉडयूल चलाएंगे। सभी 13 तस्कर एनसीची की कस्टडी में हैं। जगदीश और विक्रम विश्नोई फरार हैं। सिरोही के कैलाश नगर, जोधपुर के ओसियां में गुजरात

जोधपुर | राजस्थान और गुजरात में चार फैक्ट्रियों से 300 करोड़ की ड्रग पकड़े जाने के बाद गिरोह के तार लॉरेंस विश्नोई गैंग से जुड़े होना सामने आया है।

गुजरात एटीएस, नारकोटिक्स ब्यूरो और सिरोही पुलिस की कार्रवाई में पकड़े गए 13 तस्करों ने खुलासा किया यह ड्रग पंजाब-हरियाणा व दिल्ली एनसीआर से लेकर विदेश में भी सप्लाई होती है। तस्करों ने खुलासा किया कि सभी आरोपी जोधपुर जेल में मिले थे।

जोधपुर जेल में लॉरेंस के गुर्गे जगदीश ने बनाया था चारों ड्रग फैक्ट्रियों का प्लान

गैंगस्टर लॉरेंस विश्नोई के गुर्गे जगदीश विश्नोई निवासी ओसियां और बाड़मेर के धोरीमन्ना के विक्रम विश्नोई ने एमडी ड्रग प्रॉडक्शन के प्लांट लगाने के लिए प्लान बनाया था। इनके साथ गुजरात का मनोहर ऐनानी भी था, जो 2015 में 279 किलो ड्रग्स के मामले में आबूरोड से पकड़ा गया था और 7 साल की सजा काट रहा था। मनोहर 2022 में और जगदीश विश्नोई भी 2021 में जेल से छूट गया था।

गुजरात के पिपलाज में 500 ग्राम एमडी के साथ 3 माह पहले पकड़े तस्कर ने उसने खुलासा किया था कि राजस्थान में एमडी बनती है। पिपलाज में रेड के दौरान गिरफ्तार हुए पाली निवासी दीपक सोलंकी (30) का चाय पत्ती का बिजनेस है।

दीपक इससे पहले जोधपुर में ड्रग्स सप्लाई के मामले में पकड़ा जा चुका था। चार साल पहले एमडी सप्लायर कुलदीप सिंह के संपर्क में आकर जोधपुर से एमडी लाकर पाली में बेचने लगा। कई और लोगों को जोड़ लिया।


जोधपुर जेल से तय हो गया था डुग प्रॉक्डशन प्लांट के लिए गुजरात में मनोहर ऐनानी व राजस्थान में जगदीश विश्नोई इग्स रैकेट मॉडयूल चलाएंगे। सभी 13 तस्कर एनसीची की कस्टडी में हैं। जगदीश और विक्रम विश्नोई फरार हैं। सिरोही के कैलाश नगर, जोधपुर के ओसियां में गुजरात

एमडी ड्रग बनाने के लिए सुनसान कच्चे रास्तों पर खेतों में पांच महीने से प्लांट लगा रखे थे। गुजरात के वलसाड़ व वापी की केमिकल इंडस्ट्रीज से मैथ नाम का केमिकल इन प्लांट तक पहुंचाया जाता था। मनोहर ऐनानी केमिकल के साथ एक्सपर्ट को गुजरात से भेजता था. ड्रग तैयार करवाते थे।

सिरोही के पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार ने बताया कि गुजरात एटीएस, नारकोटिक्स ब्यूरो और सिरोही पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में कैलाशनगर क्षेत्र में एक सुनसान स्थान पर ड्रग्स बढ़ाने की फैक्ट्री पकड़ी है तथा इस मामले में दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है,जिनसे पुलिस पूछताछ कर रही है।

Must Read: पत्नी और सालों ने मिलकर पुलिसकर्मी का अपहरण कर पीटा

पढें क्राइम खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :