भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष: कांग्रेस सरकार में भीलवाड़ा, उदयपुर, बांसवाड़ा, सहित एक दर्जन से अधिक आंगनबाड़ी केंद्रो पर सैनेटरी नैपकीन के घोटाले सामने आए

कांग्रेस सरकार में भीलवाड़ा, उदयपुर, बांसवाड़ा, सहित एक दर्जन से अधिक आंगनबाड़ी केंद्रो पर सैनेटरी नैपकीन के घोटाले सामने आए
आंगनबाड़ी केंद्रो पर सैनेटरी नैपकीन के घोटाले सामने आए
Ad

Highlights

  • कांग्रेस को प्रदेश की जनता ने किया रिजेक्ट, गहलोत पर ‘‘सौ चूहे खाकर बिल्ली हज को चली’’ मुहावरा बैठता है फिटः- मुकेश दाधीच
  • गहलोत सरकार में निःशुल्क सेनेटरी नैपकीन वितरण के नाम पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं पर दबाव बनाकर फर्जी रसीदों से हुआ था भुगतानः-मुकेश दाधीच

जयपुर | भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष मुकेश दाधीच ने उड़ान योजना के तहत महिलाओं को बांटे जाने वाले निःशुल्क सैनेटरी नैपकीन वितरण को लेकर पूर्व सीएम अशोक गहलोत के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि कांग्रेस को प्रदेश की जनता ने रिजेक्ट कर दिया वह अब किस मुंह से जनहित का दावा कर रहे हैं।

दाधीच ने कहा कि ‘‘सौ चूहे खाकर बिल्ली हज को चली’’ वाली कहावत पूर्व सीएम गहलोत पर फिट बैठती है। पिछली गहलोत सरकार में प्रदेश के भीलवाड़ा, उदयपुर, बांसवाड़ा, जयपुर सहित एक दर्जन से अधिक आंगनबाड़ी केंद्रो पर सैनेटरी नैपकीन के घोटाले सामने आए थे। 

कांग्रेस सरकार के समय प्रदेश में उड़ान योजना के तहत महिलाओं को निःशुल्क सेनेटरी नैपकीन बांटने का दावा पूरी तरह खोखला साबित हुआ था, हैरानी की बात यह है कि यह योजना धरातल पर उतर ही नहीं पाई। आज जब प्रदेश की जनता ने कांग्रेस को सत्ता से बाहर खदेड़ दिया तो मनगढ़तं आरोप लगाकर अपनी खीज उतार रहे हैं।

भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष मुकेश दाधीच ने कहा कि पूर्व सीएम अशोक गहलोत के शासनकाल में महिलाओं और बालिकाओं को निःशुल्क सेनेटरी नैपकीन बांटने के नाम पर करोड़ों रूपए का घोटाला किया गया। महिला अधिकारिता विभाग की ओर से भीलवाड़ा जिले की 2217 आंगनबाड़ी केंद्रों पर हर माह 4 लाख 70 हजार सैनेटरी नैपकिन निःशुल्क वितरण करना बताया, जबकि जिले की 70 प्रतिशत से अधिक महिलाओं को सेनेटरी नैपकिन वितरित ही नहीं किए गए। 

वहीं रिकॉर्ड में पूरी सप्लाई बताकर करोड़ों का भुगतान उठा लिया। इतना ही नहीं, गहलोत सरकार के अधिकारियों ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं पर दबाव बनाकर फर्जी रसीदे तक बनवाई और फर्जी रसीद नहीं देने पर सप्लायर द्वारा फर्जी साइन कर भुगतान उठा लिया था।

भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष मुकेश दाधीच ने कहा कि तत्कालीन कांग्रेस सरकार के समय RMSCL द्वारा 2022 में टेंडर किये गये फाईनेंशियल बिड खुलने के बावजूद कंपनी ने सैनेटरी नैपकीन खरीदे ही नहीं। जिसके चलते प्रदेश की 21 लाख महिलाओं तक सेनेटरी नैपकीन नहीं पहुंच पाए।

Must Read: खाटूश्याम जी जा रही श्रद्धालुओं से भरी बस ट्रेलर से टकराई, कई घायल

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :