क्षत्रिय महापंचायत में लेंगे बड़े फैसले: गंगा सिंह काठाडी का ऐलान, जनता चाहेगी तो मैं निर्दलीय चुनाव लड़ूंगा 

गंगा सिंह काठाडी का ऐलान, जनता चाहेगी तो मैं निर्दलीय चुनाव लड़ूंगा 
Ganga Singh Rathore (Kathadi)
Ad

Highlights

भायल के खिलाफ नवंबर के पहले सप्ताह में क्षत्रिय समाज कि महापंचायत आयोजित हो सकती हैं जिसमें राजपूत समाज के सभी वर्गाें को बुलाकर सर्व समाज के साथ बैठकर कोई बडा फैसला लेने कि संभावना नजर आ रही हैं।

सिवाना/बालोतरा/बाड़मेर | Rajasthan Election 2023: सिवाना विधानसभा में भाजपा के अंदर बगावत के स्वर मुखर हो रहे हैं। 

वर्तमान प्रत्याशी हमीरसिंह भायल से सिवाना की जनता नाराज है, वहीं भाजपा के नेताओं में भी आक्रोश है। 

सूत्रों के अनुसार, भायल के खिलाफ नवंबर के पहले सप्ताह में क्षत्रिय समाज कि महापंचायत आयोजित हो सकती हैं जिसमें राजपूत समाज के सभी वर्गाें को बुलाकर सर्व समाज के साथ बैठकर कोई बडा फैसला लेने कि संभावना नजर आ रही हैं।

इस वक्त समाज के लोग भायल के साथ प्रचार मंे जाने से साफ मना कर रहे हैं क्योंकि इनके समाज के लोग भी बोल रहे हैं कि एक ही व्यक्ति अकेला समाज का ठेकेदार बनकर एकाधिकार बनाकर बैठ जाए ऐसा कभी संभव नहीं है, सभी को समान अवसर मिलना चाहिए। 

वहीं विधायक भायल के अस्सिटेंट कोजराज सिंह से उन्हीं के समाज के लोग नाराज हैं, पिछली बार भी जनता ने वोट इस सर्त पर दिए थे कि इनकों साथ नहीं रखोगे, लेकिन वर्तमान ने जनता कि एक नहीं सुनी, अब जनता जनार्दन का कहना है, हर बार एक ही व्यक्ति को मौका देकर पार्टी गलत फैसला ले रही हैं, इस फैसले से जनता प्रदेश नेतृत्व व केंद्रीय नेतृत्व से भी नाराज हैं। 

इसको लेकर सिवाना की जनता गंगा सिंह काठाडी (Ganga Singh Kathadi) जो कि बालोतरा जिला बूथ प्रभारी चुनाव प्रबंधन समिति भाजपा का दायित्व निभा रहे हैं व सिवाना विधान सभा पन्ना प्रमुख संयोजक का दायित्व 2022 से निभाते हुए धरातलीय स्तर पर कार्यकर्ताओं के साथ नजर आए हैं।

इसलिए पार्टी के सक्रिय कार्यकर्ता व सर्व समाज चाहता है कि गंगा सिंह काठाडी भाजपा से उम्मीदवार होने चाहिए थे।

सर्व समाज चाहता है काठाडी ठोके निर्दलीय ताल

जानकारी के मुताबिक काठाडी ने सभी से राय व सुझाव मांगे थे जिसमें सभी समाज की एक ही आवाज आई की समाज व पार्टी का एक व्यक्ति एकाधिकार के साथ ठेकेदार बनकर बैठा है तो इन्हें घर बिठाने की जरुरत है।

इधर कई कार्यकर्ता काठाडी को फोन कर निर्दलीय चुनाव लड़ने को तैयार कर रहे हैं, जिन्हें विधायक भायल कतई मंजूर नहीं है।

सर्व समाज का फैसला, मेरा फैसला काठाडी 

सिवाना के सभी समर्थक फोन पर फोन कर समाज हितार्थ समाज सेवी काठाडी को निर्दलीय ताल ठोकने का सुझाव दे रहे हैं, इस पर काठाडी से बात की तो उन्होंने बताया कि मैं बाबा रामदेव रूणिचे वाले का परम भक्त हूं और सर्व समाज के आदेशानुसार जनता सेवा के लिए हमेशा तैयार मिलूंगा।

मेरे पास राष्ट्रीय पार्टियों व राज्य दलों सभी के फोन आ चुके हैं लेकिन मैं किसी दल मैं शामिल नहीं होऊंगा।

एक दो दिन बाद नवंबर के शुरुआती सप्ताह मैं निर्दलीय उम्मीदवार पर अपनी बात स्पष्ट करूंगा, क्योंकि जनता का फैसला ही मेरा फैसला है। सर्व समाज जो आदेश देगा मैं उसका पालन करूंगा।

सिवाना की जनता दोहरा सकती हैं कांत वाले चुनाव

वहीं सूत्रों के अनुसार, अगर काठाडी निर्दलीय ताल ठोकते हैं तो सिवाना विधानसभा चुनाव 2023 का परिणाम टिकम चंद कान्त वाले निर्दलीय चुनाव की तरह होने की संभावना नजर आ रही है।

जैसा माहौल कान्त के निर्दलीय उम्मीदवार के समय था वैसे ही माहौल रिपीट होते नजर आ रहे हैं। 

कान्त की ही तरह जनता में काठाडी के प्रति समर्पित भाव व काठाडी की बेदाग छवी होने के कारण सिवाना की जनता चाहती हैं कि किसी दल में न जाकर निर्दलीय चुनाव लडे़ जिसमें हम तन मन धन से साथ निभाएंगे।

Must Read: खाटू धाम से दर्शन कर लौट रहे परिवार की कार भिड़ी बस से, 2 बच्चों समेत 6 की मौत, सभी एक ही परिवार के

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :