बुजुर्ग नेता के बोल: बुजुर्ग नेता के बोल कैलाश मेघवाल ने सीएम गहलोत के गीत गाए, देश के विधि मंत्री अर्जुन मेघवाल को भ्रष्टाचारी नम्बर एक बताया

बुजुर्ग नेता के बोल कैलाश मेघवाल ने सीएम गहलोत के गीत गाए, देश के विधि मंत्री अर्जुन मेघवाल को भ्रष्टाचारी नम्बर एक बताया
arjun meghwal and kailash meghwal
Ad

Highlights

पूर्व विधानसभा अध्यक्ष ने केंद्रीय मंत्री और पार्टी सहयोगी अर्जुन मेघवाल की आलोचना की, मंत्रिमंडल से हटाने की मांग की

कैलाश मेघवाल अपने पार्टी सहयोगी के प्रति असंतोष व्यक्त करने में पीछे नहीं रहे. उन्होंने कहा, "अर्जुन राम मेघवाल एक नंबर के भ्रष्टाचारी हैं, उनके खिलाफ भ्रष्टाचार के कई मामले चल रहे हैं.

जयपुर | पूर्व विधानसभा अध्यक्ष और शाहपुरा (भीलवाड़ा) विधायक कैलाश मेघवाल ने अपनी ही पार्टी के सहयोगी और केंद्रीय विधि मंत्री अर्जुन राम मेघवाल की खुलेआम आलोचना की है। कैलाश मेघवाल ने अर्जुन मेघवाल को "भ्रष्ट नंबर एक" करार दिया है। यह बयान शाहपुरा विधानसभा सीट के लिए कैलाश मेघवाल के टिकट की अटकलों के बीच आया है, जिसमें कथित तौर पर अर्जुन राम मेघवाल के समर्थक टिकटार्थियों की क्षेत्र में पकड़ मजबूत हो रही है।

शाहपुर के कोठिया गांव में मंसूरी समाज द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कैलाश मेघवाल अपने पार्टी सहयोगी के प्रति असंतोष व्यक्त करने में पीछे नहीं रहे. उन्होंने कहा, "अर्जुन राम मेघवाल एक नंबर के भ्रष्टाचारी हैं, उनके खिलाफ भ्रष्टाचार के कई मामले चल रहे हैं. मैं मोदी को पत्र लिखने वाला हूं...भाई आपने जिन्हें मंत्री बनाया है...कानून मंत्री. वह भ्रष्टाचार में लिप्त अधिकारी थे''. इसलिए लाखों रुपये का भ्रष्टाचार किया गया.''

अशोक गहलोत की तारीफों के पुल
कैलाश मेघवाल ने भी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की तारीफ करते हुए उन्हें क्षेत्र के लिए बेहतर मुख्यमंत्री बताया. उन्होंने शाहपुरा के विकास में योगदान के लिए गहलोत को श्रेय दिया। पूर्व विधानसभा अध्यक्ष ने क्षेत्र के बुनियादी ढांचे को बढ़ाने में उनकी भूमिका पर प्रकाश डालते हुए विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी की भी सराहना की।

राजनीतिक विश्लेषकों का अनुमान है कि कैलाश मेघवाल की आलोचनात्मक टिप्पणी अर्जुन राम मेघवाल के लिए शाहपुरा का टिकट खोने की संभावना से उपजी है, जो कथित तौर पर हाल के दिनों में शाहपुरा क्षेत्र में अधिक सक्रिय रहे हैं। आगामी चुनावों ने पार्टी के भीतर प्रतिस्पर्धा को तेज कर दिया है, जिससे इस तरह की सार्वजनिक असहमतियां सामने आ रही हैं।

सीएम अशोक गहलोत ने पहले कांग्रेस सरकार को बनाए रखने में कैलाश मेघवाल के समर्थन को स्वीकारने वाला बयान दिया था। एक बयान जिसने पार्टी के भीतर असंतोष को बढ़ावा दिया था। यह स्वीकारोक्ति और 90 वर्ष की उम्र कैलाश मेघवाल के लिए टिकट कटने का आधार बन गई है। बताया जा रहा है कि इस बयान से पार्टी के भीतर कैलाश मेघवाल की निष्ठा और प्रभाव भी जांच के दायरे में आ गए हैं।

कैलाश मेघवाल द्वारा की गई इस तरह की टिप्पणियों ने न केवल पार्टी के भीतर आंतरिक विभाजन को उजागर हुआ है। बल्कि चुनावी मौसम के दौरान उभरने वाले हालात भी गंभीर हुए हैं। जैसे-जैसे चुनाव की तारीख करीब आ रही है, भीलवाड़ा में राजनीतिक परिदृश्य विकसित होता जा रहा है, जिससे पार्टी के सदस्य और घटक समान रूप से आगे के घटनाक्रम का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं।

लालाराम बैरवा का नाम लिया
इन दिनों भीलवाड़ा जिले की शाहपुरा विधानसभा सीट पर आरएसएस के कार्यकर्ता और सामाजिक रूप से सक्रिय लालाराम बैरवा का बतौर प्रत्याशी बीजेपी में नाम चल रहा है। ऐसे में कैलाश मेघवाल ने उन्हें भी टारगेट करते हुए बयानबाजी की। आपको बता दें कि इस बार कैलाश मेघवाल को टिकट देने के मूड में बीजेपी नहीं है। ऐसे में यह लग रहा है कि मेघवाल की यह खिसियाहट पार्टी विरोधी बयानों में सामने आ रही है।

Must Read: सामान्य एवं पुलिस पर्यवेक्षकों से आमजन मोबाइल एवं सर्किट हाउस में कर सकते हैं संपर्क

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :