माही जल क्रांति यात्रा का चौथा दिन: विक्रम सिंह पुनासा ने बोले- गांवों की सीमाओं पर चेतावनी बोर्ड लगा दो, पहले माही का पानी तभी मिलेगा वोट 

विक्रम सिंह पुनासा ने बोले- गांवों की सीमाओं पर चेतावनी बोर्ड लगा दो, पहले माही का पानी तभी मिलेगा वोट 
Ad

Highlights

राजस्थान किसान संघर्ष समिति के बैनर तले चल रही माही जल क्रांति यात्रा आज जसवंतपुरा व जालोर तहसील के तवाव, पाथेडी, थूर, मुरथला सिली, सोमता, जोड़वाडा, रोहटा, लूर, बासड़ा धनजी, शेरणा, धानसा व थलवाड़ आदि गांवों से जनसभाएं करती हुई आगे बढ़ी। 

जालोर | जालोर जिले में लंबे समय से माही बेसिन को सिंचाई व पेयजल के लिए उपलब्ध करवाने की मांग को लेकर ’माही जल क्रांति यात्रा’ का आज चौथा दिन है।

राजस्थान किसान संघर्ष समिति ने इस आंदोलन को गति देने के लिए ’माही जल क्रांति यात्रा’ का आगाज किया है।

राजस्थान किसान संघर्ष समिति के बैनर तले चल रही माही जल क्रांति यात्रा आज जसवंतपुरा व जालोर तहसील के तवाव, पाथेडी, थूर, मुरथला सिली, सोमता, जोड़वाडा, रोहटा, लूर, बासड़ा धनजी, शेरणा, धानसा व थलवाड़ आदि गांवों से जनसभाएं करती हुई आगे बढ़ी। 

इस दौरान लूर गांव में मीडिया प्रभारी गुमान सिंह लूर के नेतृत्व में सैकड़ों किसानों ने ट्रेक्टरों, मोटर साइकिलों से यात्रा का गाजे-बाजे के साथ स्वागत किया गया। 

कई गांवों में रैली के स्वागत में पुष्प वर्षा की गई व मंगलगीत गाए गए। 

थलवाड़ गांव के नीमड़ी माता मंदिर में गुलाब के फूल बरसाकर ठाकुर दलपत सिंह ने सैकड़ो ग्रामीणों के साथ स्वागत किया।

समिति के संयोजक विक्रम सिंह पुनासा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पहली बार जलशक्ति मंत्रालय बनाया जिस मंत्रालय का नेतृत्व पूरे भारत में से जोधपुर के सांसद गजेन्द्र सिंह शेखावत को दिया जिससे जोधपुर संभाग के किसानों में खुशी की लहर छाई हुई थी कि अब नहरों का पानी व पीने का पानी पश्चिमी राजस्थान के जिलों को मिलेगा, लेकिन इन्होंने जनता की उम्मीदों पर ही पानी फेर दिया। 

परिवर्तन यात्रा में भी नहीं ले रहे माही के पानी का नाम

उन्होंने कहा कि अभी भाजपा की परिवर्तन यात्रा चल रही है लेकिन अभी तक किसी भी बड़े नेता ने माही के पानी का नाम ही नहीं लिया। 

हमारे हक का पानी गुजरात ने रोक रखा है लेकिन किसी नेता की हिम्मत गुजरात की गुण्डागर्दी के खिलाफ बोलने की नहीं है। 

हमें हक के पानी के लिए नेताओं के पास दर दर की ठोकरे खानी पड़ रही है, अब हम फिर जनता के दरवाजे पर आए हैं। सभी से इस बार वोट माही के नाम पर देने की अपील की जा रही है।

गांवों की सीमाओं पर चेतावनी बोर्ड लगा दो 

इस यात्रा में अध्यक्ष बद्रीदान नरपुरा ने आह्वान किया है कि गांवों की सीमाओं पर चेतावनी बोर्ड लगा दो और जो नेता आए उससे संकल्प पत्र भरवाओं कि जो माही की बात करेगा उसको ही वोट मिलेगा।

यात्रा में समिति के युवा मोर्चा अध्यक्ष जयंत मूंड, सचिव गिमर सिंह कोट, उपाध्यक्ष शिवनाथ सिंह राजपुरोहित, सरपंच हुकुम सिंह धानसा, लूर सरपंच प्रतिनिधि रतन सिंह आदि ने भी संबोधन किया।

Must Read: कोचिंग छात्र की मौत से बवाल, इंजीनियर बनने का सपना लेकर सीकर आया था युवराज 

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :