कितनी सच कितनी झूठी: राजस्थान में महिला से फिर दरिंदगी, अपहरण के बाद गैंगरेप, आपत्तिजनक हालत में लोगों से मांगी मदद

राजस्थान में महिला से फिर दरिंदगी, अपहरण के बाद गैंगरेप, आपत्तिजनक हालत में लोगों से मांगी मदद
Ad

Highlights

भीलवाड़ा में इंसानियत तार-तार होती दिखी है। यहां एक महिला को पहले किडनैप किया गया फिर उसके साथ गैंगरेप किया गया। दरिंदें महिला के साथ बलात्कार कर उसके कपड़े भी लेकर फरार हो गए। जिसके बाद महिला को निर्वस्त्र अवस्था में ही लोगों से मदद मांगने को मजबूर होना पड़ा। 

भीलवाड़ा | रेप जैसी घटनाओं को अंजाम देने वाले दरिंदों ने राजस्थान को एक बार फिर से शर्मसार करने का काम किया है। 

भीलवाड़ा में इंसानियत तार-तार होती दिखी है। यहां एक महिला को पहले किडनैप किया गया फिर उसके साथ गैंगरेप किया गया। 

दरिंदें महिला के साथ बलात्कार कर उसके कपड़े भी लेकर फरार हो गए। 

जिसके बाद महिला को निर्वस्त्र अवस्था में ही लोगों से मदद मांगने को मजबूर होना पड़ा। 

ये मामला भीड़वाड़ा के गंगापुर थाना क्षेत्र से सामने आया है। 

लोगों ने उन्हें कंबल देकर पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने महिला के बयान के बाद दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

मीडिया रिपोट्स की माने तो दरिंदगी का शिकार हुई महिला शनिवार की रात खाना खाने के बाद घर के बाहर टहल रही थी। 

तभी दो बदमाश उसके नजदीक आए और उसे गाड़ी में किडनैप करके ले गए। उन्होंने महिला के साथ गैंगरेप किया। 

महिला के शरीर को कई बार नोचा गया। महिला के शरीर पर कई घाव है। 

इसके बाद दरिंदें महिला को सड़क पर निर्वस्त्र हालत में छोड़ कर वहां से फरार हो गए। 

बताया जा रहा है कि महिला इसी हालत में सड़क पर लोगों से मदद मांगती रही।

ऐसे में किसी ने महिला को इस हालत में देख महिला को कंबल दिया और पुलिस को सूचना दी। 

मौके पर पहुंची पुलिस ने सबसे पहले अपनी जीप के सीट कवर पीड़िता का शरीर ढका और उसे थाने ले जहां महिला सिपाही के कपड़े मंगवा कर उसे पहनाये गए।

इस घटना को लेकर गंगापुर थाना पुलिस अधिकारी का कहना है कि दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। 

दोनों आरोपियों में से एक आरोपी ने महिला को एक जगह पर बुलाया था। इसके बाद महिला को आमली रोड पर एक घर में ले गए और जहां पर महिला के साथ गैंगरेप किया गया। 

अभी पुलिस आरोपियों से पूछताछ में लगी हुई है।

मामले को पुलिस मान रही झूठा

वहीं दूसरी ओर, पुलिस ने महिला का अपहरण और गैंगरेप की वारदात को झूठी बताया है। पुलिस मुख्यालय के मुताबिक महिला स्वयं की मर्जी से गई थी। 

लेकिन आरोपियों के साथ पैसे से संबंधित विवाद के बाद महिला निर्वस्त्र होकर कमरे से भागी और सड़क पर लोगों से मदद मांगी। 

पुलिस के अनुसार, पीड़िता महिला ओड़िसा निवासी है और उसकी 6 साल पहले गंगापुर निवासी युवक के साथ शादी हुई थी। 

पुलिस को महिला के मोबाइल से आरोपियों के साथ हुई वॉइस रिकॉर्डिंग भी मिली है। 

अब ये घटना कितनी सच है और कितनी झूठ इसका पर्दा तो आने वाले दिनों में ही उठेगा। लेकिन ये सच हो झूठी इस घटना ने भी पुलिस और कानून व्यवस्था पर सवाल उठा दिया है। 

राजस्थान में महिलाओं से ज्यादती और गैंगरेप की घटनाओं को लेकर बोलने पर विधायक राजेंद्र गुढ़ा को मंत्री पद से बर्खास्त होना पड़ा जिसका वे बार-बार जिक्र करते हैं। लेकिन फिर भी ये घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं। 

Must Read: दोस्त के साथ कैब का इंतजार कर रही युवती के अपहरण की कोशिश, विरोध किया तो हमला

पढें क्राइम खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :