राजस्थानी लोक संगीत की परंपरा : लंगा और मांगणियार भजनों से जीवंत होगी राजस्थानी लोक संगीत की परंपरा— रामकृष्ण मिशन मंदिर में शाम 5 बजे से “स्तुति ओड टू म्यूजिकल ट्रेडिशन” कार्यक्रम

लंगा और मांगणियार भजनों से जीवंत होगी राजस्थानी लोक संगीत की परंपरा— रामकृष्ण मिशन मंदिर में शाम 5 बजे से “स्तुति ओड टू म्यूजिकल ट्रेडिशन” कार्यक्रम
राजस्थानी लोक संगीत
Ad

Highlights

राजस्थान का लोक संगीत, यहाँ की समृद्ध विरासत का हिस्सा है, इस तरह के आयोजन से एक ओर प्रदेश की प्रसिद्ध लोक कला संस्कृति और संगीत जीवंत होंगे, वहीं इससे लंगा और मांगणियार भजनों के सुर फिर एक बार फिर लोगों के दिलों तक पहुँच सकेंगे।

जयपुर। डेल्फिक काउंसिल ऑफ़ राजस्थान के साथ वेस्ट ज़ोन कल्चरल सेंटर एवं रामकृष्ण मिशन के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित संगीत कार्यक्रम “ स्तुति, ओड टू म्यूजिकल ट्रेडिशन” गुरुवार शाम 5 बजे रामकृष्ण मिशन मंदिर में आयोजित होगा। जहां प्रदेशभर से ख्यातिप्राप्त संगीत कलाकार और संगीत में रुचि रखनें वाले लोग हिस्सा लेंगे। 

 राजस्थान का लोक संगीत, यहाँ की समृद्ध विरासत का हिस्सा है, इस तरह के आयोजन से एक ओर प्रदेश की प्रसिद्ध लोक कला संस्कृति और संगीत जीवंत होंगे, वहीं इससे लंगा और मांगणियार भजनों के सुर फिर एक बार फिर लोगों के दिलों तक पहुँच सकेंगे। कार्यक्रम में भुंगर खान ग्रुप द्वारा लंगा और मांगणियार गायन शैली में लोक भजनों और सुरीले गीतों की प्रस्तुति दी जाएगी साथ ही आगंतुक पंडित प्रवीण कुमार आर्या द्वारा प्रस्तुत पखावज वादन का भी आनंद ले सकेंगे। कार्यक्रम में आमजन की एंट्री निःशुल्क रखी गई है

Must Read: 40 साल की उम्र में मशहूर गायक का निधन, सीएम ने जताया दुख

पढें मनोरंजन खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :