Barmer Jaisalmer: रविन्द्रसिंह भाटी चुनाव लड़े तो कैलाश चौधरी संकट में

रविन्द्रसिंह भाटी चुनाव लड़े तो कैलाश चौधरी संकट में
Jalore Sirohi Loksabha Chunav
Ad

Highlights

इसलिए अपने क्षेत्र के छत्तीस कौम को साथ लेकर अपन सबको कोई न कोई फैंसला लेना है कुछ विचार-विमर्श कर आने वाले समयानुसार क्या करना है।एक फिर शिव विधायक के मुंह से अपनो के बीच "लांठा रह्या मोटीयारों" के प्रचलित नारे ने जोश भर दिया।

Jaipur | बाड़मेर-जैसलमेर-बालोतरा की लोकसभा सीट पर चुनाव रोचक होने की पूरी उम्मीद है। इस सीट पर भाजपा ने केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी को पुनः सीट पर भाजपा ने उम्मीदवार बना दिया है तो वही कांग्रेस ने अभी तक पत्ते नहीं खोले है। हालांकि कांग्रेस से मानवेन्द्रसिंह और हेमाराम का नाम इस सीट पर चर्चाओं में था।

लेकिन इन दोनों नेताओं ने पार्टी को साफ मना कर देने के कारण बायतु विधायक हरीश चौधरी, पूर्व सांसद कर्नल सोनाराम चौधरी और प्रभा चौधरी के नाम के साथ साथ आरएलपी से गठबंधन की भी चर्चाएं जोरो पर है। भाजपा से बागी होकर विधानसभा चुनाव जीतने वाले शिव विधायक रविंद्रसिंह भाटी फिर से सक्रिय हो जाने से भाजपा के कैलाश चौधरी की मुश्किलें बढ़ने लग गई है।

सूत्रों की मानें तो भजनलाल सरकार रविन्द्रसिंह भाटी को मनाने के लिए फिर से पार्टी में लेने के भी प्रयास कर रही है लेकिन भाटी ने लोकसभा चुनाव से पूर्व ही देव दर्शन की यात्रा सोमवार को जैसलमेर विधानसभा से शुरू कर दी है सोमवार को शिव से गरीबनाथ मंदिर से आशीर्वाद लेकर जैसलमेर जिले के कोहरा स्थित चम्पानाथ मंदिर, भटियाणी मंदिर जोगीदास गांव, रामसिंह छतरी काँसाउ-तेजमालता, झिनझिनयाली स्थित मूलचंद प्रोल, करणी-मंदिर, सादुलधाम गुहड़ा, बैया-सांवतसिंह भोमिया मंदिर, चेतननाथ आश्रय स्थल सिहड़ार, सत्तो, म्याजलार, ख्याला मठ, केशरसिंह का तला, फुलिया, सच्चानाथ पालिया, तनसिंह जन्मस्थली-बैरसियाला, खुहड़ी, धोबा, मालनबाई मंदिर जानरा, आसलोई, सोढ़ा, कोटड़ी, गोरेरा फांटा, तेमडेराय मंदिर, से होते हुए शहीद जयसिंह चौराहा, लक्ष्मीनाथ मंदिर में दर्शन कर जैसलमेर में रात्रि विश्राम किया। देव-दर्शन यात्रा के दौरान विधायक रविंद्रसिंह का -जगह-जगह ढोल-नगाड़ों,डीजे के साथ-साथ जेसीबी मशीनें खड़ी कर पुष्प वर्षा कर जोरदार स्वागत किया गया।

झिनझिनयाली स्थित मूलचंद चौराहे से घोड़ी पर बैठाकर मूलचंद प्रोल तक वाहन रैली निकाली गई तो वहीं म्याजलार में शिव विधायक भाटी के सामने लोग ऊंटों-घोड़ो से आकर स्वागत कर आगे ऊंट-घोड़े चल रहे थे तो पीछे शिव विधायक को ओपन गाड़ी में बैठाकर स्वागत कर गांव में प्रवेश करवाकर स्वागत किया गया।

वहीं बैरसियाला में महिलाओं ने मंगल गीत गाकर भाटी का अभिनंदन किया गया।वही भाटी ने आज फिर से गुरु गोरखनाथजी से आशीर्वाद लिया। शिव विधायक रविंद्रसिंह ने तेजमालता, झिनझिनयाली में सभाओं को भी संबोधित किया सभा में भाटी ने कहा फिलहाल देव-दर्शन कर आप सभी का आशीर्वाद के साथ ही अपनो के बीच लोकसभा चुनावों के बीच विचार-विमर्श करने आया हूँ भाटी ने कहा कि पहले दूधोडा परिवार एकाधिकार था। अब जैसलमेर-बाड़मेर के छत्तीस कौम का अधिकार है आप सबको एकजुट होकर कहना है कि आगे आने वाले समय में क्या करना है।

राजनीति क्षेत्र या सामाजिक क्षेत्र किसी को ऊपर उठकर बात करनी पड़ती है।जब आज कोई अपनी बात नहीं करेगा तो आगे कौन बात रखेगा। उन्होंने कहा पिछले पांच-दस वर्षों में क्या हुआ क्या नहीं, सभी लोग परिचित होंगे ही और अब आगे एक महीने बाद लोकसभा चुनाव है। उसकी सार-सम्भाल लेने वाला अपना कोई नहीं है।

इसलिए अपने क्षेत्र के छत्तीस कौम को साथ लेकर अपन सबको कोई न कोई फैंसला लेना है कुछ विचार-विमर्श कर आने वाले समयानुसार क्या करना है।एक फिर शिव विधायक के मुंह से अपनो के बीच "लांठा रह्या मोटीयारों" के प्रचलित नारे ने जोश भर दिया।

अपनों के बीच अपनों ने भी "रविन्द्र तुम संघर्ष करो हम तुम्हारे साथ है" जयकारों से होंसला अफजाई की।इन नारो और भाषण के शब्दों से साफ हो गया कि शिव के विधायक रविंद्रसिंह भाटी इस बार लोकसभा का चुनाव बाड़मेर-जैसलमेर-बालोतरा से लड़ने जा रहे हैं।

Must Read: अब आगे का सुनो हवाल

पढें Blog खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :