एनआईए: सुखदेव सिंह गोगामेडी हत्याकांड में बड़ा खुलासा

सुखदेव सिंह गोगामेडी हत्याकांड में बड़ा खुलासा
सुखदेव सिंह गोगामेडी
Ad

Highlights

गोगामेड़ी हत्याकांड में कुख्यात गैंगस्टर गोल्डी बराड़ और रोहित गोदारा का हाथ

 गोगामेडी हत्याकांड में जयपुर की एनआईए मामलों की विशेष अदालत में 12 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट पेश की |

जयपुर | 5 दिसंबर 2023 को राजधानी जयपुर के श्याम नगर में सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की शूटर (shooter) नितिन फौजी और रोहित राठौड़ ने गोलियों से भूनकर हत्या कर दी थी | गोगामेड़ी के घर में घुसकर इस वारदात को अंजाम दिया गया था |

इस घटनाक्रम में नवीन शूटर्स (shooters) के साथ आए नवीन शेखावत और अजीत सिंह की भी गोलीबारी (firing) में मौत हो गई थी | जबकि गोगामेड़ी का गनमैन नरेंद्र सिंह गंभीर रूप से घायल हो गया था |

बुधवार को सुखदेव सिंह गोगामेडी हत्याकांड में जयपुर की एनआईए (NIA) मामलों की विशेष अदालत में 12 आरोपियों के खिलाफ आरोप पत्र (charge sheet) पेश की है।

अब तक गिरफ्तार आठ आरोपियों के अलावा इस चार्जशीट (charge sheet) में कुख्यात घोषित आतंकी गोल्डी बराड़ उर्फ सतविंदर सिंह और गैंगस्टर रोहित गोदारा उर्फ रेवतराम स्वामी के साथ ही महेंद्र कुमार और वीरेंद्र चारण का भी नाम हैं |

चारों आरोपी अभी एनआईए (NIA) की पकड़ से दूर हैं | गोल्डी बराड़ और रोहित गोदारा विदेश से गैंग चला रहे हैं | ये दोनों कुख्यात लॉरेन्स विश्नोई गैंग से जुड़े हैं | आरोप पत्र में रावतराम स्वामी उर्फ रोहित गोदारा को प्रकरण का मास्टर माइंड बताया है।

आरोप पत्र (charge sheet) के अनुसार हत्या के बाद रोहित गोदारा और गोल्डी ने हत्या की जिम्मेदारी लेते हुए अन्य लोगों को धमकाया और उनसे रुपए वसूल किए। इसमें यह भी दोहराया कि रोहित राठौड़ और नितिन पांच दिसंबर, 2023 को घर में घुसकर सुखदेव सिंह की हत्या करने के बाद फरार हो गए थे।

पूजा सैनी और उसके पति महेन्द्र कुमार ने हत्याकांड से पहले नितिन को पनाह दी। एनआइए के अनुसार नितिन से हत्या कराने के लिए भवानी सिंह की मदद ली गई। भवानी को अशोक कुमार ने हथियार और रहने की जगह दी।

यह था मामला

श्याम नगर थाना इलाके में 5 दिसंबर 2023 को गोगामेड़ी व नवीन शेखावत की हत्या हुई। इस मामले में पुलिस ने आरोपी शूटर नितिन फौजी, रोहित राठौड़, उधम सिंह, भवानी, राहुल, रामवीर व पूजा सैनी को गिरफ्तार किया, जबकि रोहित गोदारा, वीरेन्द्र चारण, महेन्द्र मेघवाल और गोल्डी बरार सहित अन्य आरोपी फरार हैं।

Must Read: विश्व की सबसे बड़ी घंटी को सांचे से निकालने के दौरान 35 फीट से गिरे इंजीनियर और हेल्पर, दोनों की मौत

पढें क्राइम खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :