हर गलती सजा मांगती है: राजेंद्र राठौड़ का तंज- आखिरकार कब तक गलतियों पर गलतियां करोगे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी, क्या मजबूरी थी

राजेंद्र राठौड़ का तंज- आखिरकार कब तक गलतियों पर गलतियां करोगे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी, क्या मजबूरी थी
Ad

Highlights

सीएम गहलोत के बयान के बाद भाजपा के नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ (Rajendra Rathore) ने इस मुद्दे पर सीएम गहलोत को घरते हुए कहा कि हर गलती सजा मांगती है।

जयपुर | पेपर लीक मामले में घिरने के बाद राजस्थान में आचार संहिता लगने से ठीक पहले आनन-फानन में की गई नियुक्तियों को लेकर अशोक गहलोत सरकार फिर विवादों में आ गई है। 

राजस्थान लोक सेवा आयोग (RPSC) सदस्य बनाए गए कर्नल केसरी सिंह राठौर अब गहलोत सरकार के लिए गले की फांस बनते दिख रहे हैं। 

कर्नल केसरी सिंह की नियुक्त को खुद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। 

इसके लिए सीएम गहलोत ने मीडिया के सामने सार्वजनिक तौर पर माफी भी मांगी है। 

राजेंद्र राठौड़ बोले- हर गलती सजा मांगती है

सीएम गहलोत के बयान के बाद भाजपा के नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ (Rajendra Rathore) ने इस मुद्दे पर सीएम गहलोत को घरते हुए कहा कि हर गलती सजा मांगती है।

नेता प्रतिपक्ष राठौड़ ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट जारी करते हुए कहा कि, आखिरकार कब तक गलतियों पर गलतियां करोगे मुख्यमंत्री जी।

अशोक गहलोत जी, आपने महाभ्रष्ट आरपीएससी सदस्य बाबूलाल कटारा की नियुक्ति करके गलती की। 

डीपी जारोली की नियुक्ति करके गलती की, जिसे आपको बर्खास्त करना पड़ा। 

एक तरफ आदर्श आचार संहिता लग रही थी, वहीं दूसरी तरफ आप राजनीतिक उद्देश्यों की पूर्ति के लिए संवैधानिक तंत्रों का बेजा इस्तेमाल कर नियुक्तियों की रेवडियां बांट रहे थे। 

पूछता है राजस्थान, ऐसी भी क्या मजबूरी थी ?

किन विवादों में घिरे हैं कर्नल केसरी सिंह

आरपीएससी मेंबर बनाए गए कर्नल केसरी सिंह अपने पुराने विवादित फोटोज और वीडियोज को लेकर सुर्खियों में आ गए हैं।

उन्होंने दूसरी जातियों के प्रति द्वैषता फैलाने वाली बातें कही थी,  जिसके चलते जाट और गुर्जर समेत कई अन्य समाजों के लोग उनसे नाराज हैं। 

यही नहीं, केसरी सिंह राठौड़ राजस्थान के कुख्यात गैंगस्टर रहे आनंदपाल सिंह को भी आदर्श बताकर उनकी पुण्यतिथि पर रक्तदान शिविर का आयोजन कर चुके हैं। 

सीएम गहलोत ने मांगी माफी

इस मामले को लेकर सीएम अशोक गहलोत ने पहली बार मीडिया के सामने इस नियुक्ति को अपनी गलती स्वीकार किया। 

सीएम गहलोत ने दुख जताते हुए कहा कि मेरे से एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना हो गई। जो व्यक्ति 22 साल से आर्मी में रहा हो उससे इस तरह के बयानों की उम्मीद नहीं की थी। 

सीएम गहलोत ने शुक्रवार को कांग्रेस वॉर रूम से निकलने के बाद कहा कि हमारी सरकार ने आर्मी बैकग्राउंड देखकर कर्नल केसरी सिंह को आरपीएससी मेंबर बनाया था, लेकिन उनके पुराने बयान सुनकर मुझे बेहद दुख हुआ।

Must Read: सचिन पायलट को खुद की पार्टी बना लेनी चाहिए, बेनीवाल ने बता दिया कि पायलट ने कहा चूक कर दी

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :