जयपुर जिला प्रभारी की समीक्षा बैठक: आमजन को भीषण गर्मी एवं हीटवेव से बचाने के लिए बनाएं 'हीटवेव एक्शन प्लान

आमजन को भीषण गर्मी एवं हीटवेव से बचाने के लिए बनाएं 'हीटवेव एक्शन प्लान
Ad

Highlights

  • बिजली, जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग एवं चिकित्सा विभाग सहित अन्य विभाग एवं प्राधिकरण समन्वय के साथ काम करें एवं आमजन तक हर संभव राहत पहुंचाए।
  • अस्पतालों एवं चिकित्सा केन्द्रों में दवा वितरण व्यवस्था को और प्रभावी बनाने के लिए पर्याप्त फार्मासिस्टों की व्यवस्था करने के निर्देश दिये।  
  • रात्रि चौपाल के दौरान मिलने वाली शिकायतों को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए संपर्क पोर्टल पर अपलोड करने एवं समस्याओं के निस्तारण सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। 
जयपुर | प्रदेश में जारी भीषण गर्मी एवं हीटवेव से आमजन को राहत दिलाने के लिए सभी विभागों के अधिकारी समन्वय स्थापित हीटवेव एक्शन प्लान तैयार करें एवं इसका प्रभावी क्रियान्वयन भी करें। यह कहना है जयपुर के जिला प्रभारी सचिव एवं अतिरिक्त मुख्य सचिव  आलोक का।
 
 आलोक ने मंगलवार को यह बात जिला कलक्ट्रेट सभागार में आयोजित समीक्षा बैठक को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि उपखण्ड अधिकारी एवं तहसीलदार सहित अन्य अधिकारी फील्ड में मुस्तैद रहें। 
 
बिजली, जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग एवं चिकित्सा विभाग सहित अन्य विभाग एवं प्राधिकरण समन्वय के साथ काम करें एवं आमजन तक हर संभव राहत पहुंचाए।
 
साथ ही  आलोक ने बैठक में हीटवेव एवं मौसमी बीमारियों को देखते हुए अस्पतालों एवं चिकित्सा केन्द्रों में साफ सफाई, दवाओं की उपलब्धता एवं कार्मिकों की विशेष व्यवस्था करने के साथ-साथ कूलर एवं पंखों के अतिरिक्त इंतजाम करने के निर्देश दिये। 
 
उन्होंने राजकीय अस्पतालों एवं चिकित्सा केन्द्रों में दवा वितरण व्यवस्था को और प्रभावी बनाने के लिए पर्याप्त फार्मासिस्टों की व्यवस्था करने के निर्देश दिये।  
 
बैठक में प्रभारी सचिव  आलोक ने जिले में पेयजल एवं विद्युत आपूर्ति की समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों को जिला स्तरीय नियंत्रण कक्ष में प्राप्त होने वाली शिकायतों पर त्वरित एवं प्रभावी कार्रवाई करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि अधिकारी फील्ड में जाकर व्यवस्थाओं की मॉनिटरिंग करें एवं आमजन से संवाद कर उनकी समस्याओं का निस्तारण करें। 
 
उन्होंने पानी के पुर्नउपयोग एवं आपूर्ति के निर्देश देते हुए कहा कि कृषि एवं घरेलू पेयजल आपूर्ति में समानता रखी जाए। साथ ही उन्होंने कहा कि बिजली मित्र एप के जरिये कम समय में समस्याओं का समाधान किया जा सकता है।
 
बैठक से पहले जिला प्रभारी सचिव  आलोक ने बस्सी स्थित राजकीय स्वास्थ्य केन्द्रों एवं जयपुर में हिंगोनिया गौशाला का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों को सभी आवश्यक इंतजाम दुरुस्त रखने के निर्देश दिये।
 
वहीं बैठक में जिला प्रभारी सचिव  आलोक ने सभी राजकीय विभागों के ई-फाइल डिस्पोजल समय एवं अधिकारियों/कार्मिकों की कार्यक्षमता एवं समय पालन की समीक्षा की साथ ही लम्बित भू-हस्तान्तरण, भू-रूपान्तरण एवं भू-आवंटन की स्थिति की भी समीक्षा की।

बैठक में प्रभारी सचिव ने कहा कि रात्रि चौपाल के दौरान मिलने वाली शिकायतों को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए संपर्क पोर्टल पर अपलोड करने एवं समस्याओं के निस्तारण सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। 
 
उन्होंने कहा कि रात्रि चौपाल के दौरान सायबर अपराधों से बचाव एवं हेल्प लाइन नंबर 1930 पर शिकायत दर्ज करवाने की प्रक्रिया के साथ साथ ऑनलाइन जमाबंदी डाउनलोड करने जैसी जरूरी जानकारियां भी आमजन को मुहैया करवाई जाए। 
 
उन्होंने जिले में संचालित गोशालाओं के बेहतर प्रबंधन एवं संचालन के निर्देश दिये। साथ ही जिले में सघन पौधारोपण सुनिश्चित करने के लिए पौधारोपण अभियान को जन आंदोलन बनाने के लिए भी हर संभव प्रयास करने के निर्देश दिये।
 
बैठक में पुलिस कमिश्नर  बीजू जॉर्ज जॉसेफ, जिला कलक्टर  प्रकाश राजपुरोहित, नगर निगम जयपुर ग्रेटर कमिश्नर श्रीमती रुकमणी रियार, नगर निगम जयपुर हैरिटेज कमिश्नर अभिषेक सुराणा, जयपुर ग्रामीण पुलिस अधीक्षक शांतनु कुमार सहित बिजली विभाग, जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग, चिकित्सा विभाग, जयपुर विकास प्राधिकरण, नगर निगम, कृषि विभाग सहित अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

Must Read: करौली में बहनों को भाई ने दिया चांद पर 2 एकड़ जमीन का तोहफा

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :